Google+

Location

Authors

Name: Bhaskar

Location: Not Available

Language: Not Available

Url: Not Available

सावधान! कहीं कपड़े चेंज करते हुए कोई देख तो नहीं रहा? ऐसे करें चेक

कभी किसी शॉपिंग मॉल के चेंजिंग रूम में तो कभी किसी पब्लिक टॉयलेट या फिर होटल के वॉश रूम में महिलाओं के नहाते और कपड़े बदलते वीडियो की खबरें अब आम बात हो गई हैं। लेकिन थोड़ी-सी सावधानी रखकर ऐसी घटनाओं से बचा जा सकता है। खुफिया कैमरे के अलावा कई बार इन जगहों पर ऐसे शीशे लगे होते हैं, जिनके आर-पार देखा जा सकता है। इसे टू-वे मिरर कहते हैं। देखने में तो ये नॉर्मल ही लगते हैं, लेकिन दूसरी तरफ से कोई आपको देख सकता है। हालांकि, कुछ सिंपल टिप्स अपनाकर इससे बचा जा सकता है। आगे की स्लाइड्स में पढ़ें कि आप कैसे टू-वे मिरर का पता लगा सकते हैं...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
पानी से चेक करें कितना खरा है सोना, जानें गोल्ड को चेक करने के 10 TIPS

गोल्ड हर महिला की पहली पसंद होती है। ज्वैलरी के साथ-साथ इन्वेस्टमेंट के लिए ये बेस्ट ऑप्शन होता है। लेकिन दिक्कत तब आती है जब हमें ये पता चलता है कि सोना या तो मिलावटी है या फिर नकली। असली सोने की पहचान आम लोग नहीं कर पाते हैं। हालांकि, इसे पहचानने की भी कुछ ट्रिक्स होती है। आप चाहें तो इन्हें घर पर भी आजमा सकते हैं। न बहुत समय खर्च होगा न पैसे और सेकंड्स में पता चल जाएगा कि कौन-सा सोना खरा है और किसमें मिलावट है। आगे की स्लाइड्स में जानें, कैसे करें सोने की पहचान...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद748

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद747

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद746

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद745

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद744

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद743

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद742

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel
दुनिया के नामी योग गुरुओं के \'गुरू\', अंग्रेज-मैसूर के राजा भी थे इनके मुरीद741

नई दिल्ली. आज दूसरा विश्व योग डे है और पूरी दुनिया भारतीय योग का लोहा मान रही है। तिरुमलाई कृष्णमाचार्य को ‘मॉडर्न योग का पितामह’ कहा जाता है। हिमालय की गुफाओं में योग की बारीकियां सीखने वाले कृष्णमाचार्य, योग के साथ आयुर्वेद के भी जानकार थे। मैसूर के राजा कृष्णराज वाडियार के पर्सनल योग टीचर थे। उन्हीं की सलाह पर कृष्णमाचार्य ने भारत घूमा और योग को आगे बढ़ाया। कहा जाता है कि कृष्णमाचार्य अपनी सांसों और धड़कनों पर काबू कर सकते थे। कई योग गुरुओं को सिखाया योग... - कृष्णमाचार्य का जन्म कर्नाटक के चित्रदुर्गा में 18 नवंबर, 1888 को हुआ था। - अयंगर फैमिली से ताल्लुक रखने वाले कृष्णमाचार्य के पिता वेद-उपनिषद के शिक्षक थे। - कृष्णमाचार्य ने 6 वैदिक दर्शनों में डिग्री की। योग और आयुर्वेद की भी गहराई से जानकारी ली। - कई मशहूर योग गुरु कृष्णमाचार्य के शिष्य रहे। - इनमें के.एस. अयंगर, के पट्टाभी जोस, ए.जी. मोहन, श्रीवास्ता रामास्वामी, दिलीपजी महाराज शामिल रहे। योग की बारीकियां सीखने गए थे हिमालय - उन्होंने हिमालय की गुफाओं में रहने...

1 0 0 0
Login to proceed

Cancel

Ok Cancel


Cancel
Hours
Cancel